वह अकसर आम के पेढ़ पर चढ़कर कच्चे – पके आम तोढ़ता

वह बालक अपने जीवन में संघर्ष ही करता रहा | लोग उससे कहते है कि यदि तुमने बचपन में पढ़ाई की होती तो ऐसे दिन नही देखने पढ़ते | वह बचपन में पढ़ने भी गया लेकिन देवनागरी लिपि को नही समझ सका | वह अकसर आम के पेढ़ पर चढ़कर कच्चे – पके आम तोढ़ता और दिन गुजारता | कभी वह दीवार पर चढ़कर बैठ जाता | प्यास लगने पर वह पानी पीता और फिर दोस्तों के बीच चला जाता | वह इक भी पुस्तक ठीक से हनी पढ़ पाया | खाने में उसे उढ़द की दल पसंद थी | उसकी ये आदते ही उसकी गरीबी और बेकारी का कारण बन गई | लेकिन उसने अब भी उम्मीद और आशा नही छोढ़ी है |

  1. इनमे से कौन सा शब्द इस्त्रिलिंग नही है ?
    (a) लिपि                                                                 (b) पढ़ाई
    (c) समझ                                                                (d) संघर्ष
  2. इनमे से कौन सा शब्द कारक परसर्ग के साथ प्रयुक्त होने पर ही बहुवचन में रूप बदलता है ?
    (a) बालक                                                               (b) पुस्तक
    (c) दीवार                                                                (d) दल
  3. ‘तुमने पढ़ाई की होती तो ऐसे दिन नही देखने पढ़ते |’ यह वाक्य किस प्रकार का है ?
    (a) सामान्य भूत                                                     (b) हेतुहेतुमद भूत
    (c) अपूर्ण भूत                                                         (d) आसन्न भूत
  4. इनमे से वह शब्द बताइए जिसका वचन अथवा लिंग किसी भी परिस्थिति में नही बदलता |
    (a) आलसी                                                               (b) पानी
    (c) दिन                                                                    (d) लिपि
  5. इनमे से पुल्लिंग शब्द बताइए |
    (a) उम्मीद                                                               (b) आशा
    (c) बचपन                                                                (d) बेकारी
Anurag Mishra Professor Asked on 13th February 2016 in Hindi.
Add Comment
  • 0 Answer(s)
  • Your Answer

    By posting your answer, you agree to the privacy policy and terms of service.